शहीद दिवस कब,क्यों,और किसलिए मनाया जाता है ?

हलो दोस्तों नमस्कार, हमारे बहतरीन ब्लॉग में आपका स्वागत है हम आसा करते आप सब लोग कुशल मंगल होगे ! आज हम आपको बताने जा रहे है सहीद दिवस कब, क्यों, और किसलिए मनाया जाता है! इसमें कोई गलती हो तो हमे माफ़ करना!

शहीद दिवस भारत में कब मनाया जाता है ?

भारत में शहीद दिवस को हर साल अलग-अलग दिनों में मनाया जाता है! लेकिन मुख्य रूप से भारत में रास्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी की पुण्यतिथि के रूप में ३० जनवरी को मनाया जाता है इस दिन महात्मा गाँधी जी को नाथूराम गोडसे ने गोली मारकर हत्या कर दी थी! इस दिन हमारे देश के लोग महात्मा गाँधी जी की आत्मा को शांति देने के लिए 2 मिनट का मौन रखते है !महात्मा गाँधी जी आज भी हम सब के लिए एक आदर्श मने जाते हैं !

जरुर पढ़े –ईट राइट इंडिया के बारे में जानकारी

भारत में ३० जनवरी के आलावा किन-किन दिनों में सहीद दिवस को मनाया जाता है ?

30 january के अलावा भारत में सहीद दिवस को 17 नवम्बर, 23 मार्च , 19 नवम्बर, 21 अक्टूबर को मनाया जाता है जबकि 23 मार्च के दिन भारत माता के वीरो भगत सिंह, सुखदेव सिंह और राजगुरु को फांसी दी गयी थी! 23 मार्च को भारत सवतंत्रता गौरव और कल्याण के लिए अपनी जान की कुर्बानी देने वाले भक्तो को श्रीधांजलि देने के लिए मनाया जाता है!भारत सहीत विश्व के अनेक देश अपने देश की आजादी के लिए कुर्बानी देने वालो को सम्मान देने के लिए मनाते है! 19 नोवोम्बेर को रानी लक्ष्मी बाई के जन्मदिन की याद में भी शहीद दिवस मनाया जाता है ! शहीद दिवस को मानने के पीछे हमारे देश के अनेक वीरो का बलिदान है उनकी कुर्बानियों की वजह से ही आज हमारा देश अंग्रेजो की गुलामी से मुक्त हो पाया है

जरुर पढ़े –SBI Credit Card कितने प्रकार के होते है? और कैसे आवेदन करते है?

राजगुरु, भगत सिंह और सुखदेव सिंह को फांसी कैसे और कब दी गयी थी?

अंग्रेजो ने हनारे देश के लोगो पैर बहुत ही घीनोने अत्याचार किये थे हमारे देश की महिलाओ को बिलकुल भी इज्जत न देना भगत सिंह जैसे वीरो को बिलकुल ठीक नै लगता था! उनके भ्ध्ते हुआ अत्याचार को दखते हुए ह्न्मारे देश के वीरो ने मजबूरी में हथ्यार उठाये थे! और सबसे पहले भगत सिंह ने सांडर्स नमक अंग्रेज की गोली मारकर हत्या कर दी थी! और एक ट्रैड बिल के विरोध में भगत सिंह ने वहां की सेंट्रल अस्सेम्बेली पैर बम गिरा दिया था! उसके बढ़ अंग्रेज काफी ज्यादा भड़क गये थे और उनकी पुलिस ने भगत सिंह को गिरफ्तार कर लिया! और अंग्रेज सरकार ने भगत सिंह को फांसी की सजा सुना दी! और 2४ मार्च १९३१ को फांसी देना तय किया गया था!परन्तु एक दिन पहले ही भगत सिंह और उनके सगे साथियों को 23 मार्च को ही फांसी दे दी थी और उनके शवो को सतलज नदी के किनारे ले जाकर जला दिया गया था इसलिए 23 मार्च को शहीद दिवस हम सब लोग मानते है!

जरुर पढ़े –FSSAI क्या है ? fssai के ceo कौन है ?

शहीद दिवस कैसे मनाया जाता है ?

इस दिन भारत के राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति और परधानमंत्री नयी डेल्ही में राजघाट पर उपस्थित होकर महात्मा गाँधी को पुष्पजली देकर उनका सामान करते है! वहां 15-20 मिनट का मौन रखकर भागती गीत गाये जाते है !इसे बहुत से सवतंत्रता सेनानियों का सामान हमारे देश में किया जाता है ताकि आने वाली पीढ़ी भी उनसे प्ररित होती रहे और देश की रक्षा करती रहे!

निष्कर्ष

आज दोस्तों हमने आपको शहीद दिवस के बारे में जानकारी दी है! मने अपनी पूरी कोशिश की है की आपको शहीद दिवस के में पूरी जानकारी देने की फिर भी कुछ रह गया हो तो मुझे कमेंट में जरुर बताये! ताकि म आप तक आघे के ब्लॉग में पूरी जानकारी दे पाऊ! धनयवाद

Leave a Comment