RAJASTHAN SARKAR NE PURANI PENSION SCHEEM KO KIYA START?

हलो दोस्तों नमस्कार, हमारे फाइनेंस ब्लॉग मे आपका स्वागत है आज हम आपको राजस्थान सरकार की नयी पेंशन स्कीम के बारे मे बताने जा रहे है सरकार ने अब पुराणी पेंशन स्कीम को बंद करके नयी पेंशन स्चीम को चालू करने का विचार किया है, तो आप हमारे ब्लॉग को लास्ट तक पढ़े

पुरानी पेंशन स्कीम ओर नयी पेंशन स्कीम मे अंतर क्या hai ?

राजस्थान सरकार कि पुराणी पेंशन स्कीम क्या है?

  • सरकार कि पुरानी पेंशन स्कीम कि मुख्य बाते निम्नलिखित है
  • पुरानी पेंशन स्कीम मे GPF कि सुविधा थी जिसके अंतर्गत पेंशन के लिए वेतन मे से कटौती नहीं होती थी
  • रिटायर्मेंट पर एक निश्चित पेंशन मिलती थी यानी अन्तिम वेतन का 50% गारंटी के रूप मे मिलता था
  • नौकरी के दौरान मर्त्यु होने पर ग्राजुअटी कि सुविधा मिलती थी जो 7 वे वेतन आयोग मे 10 लाख रूपए से बढ़कर २० लाख रूपए कर दी है
  • रिटायर्मेंट पर ग्रेजुटी मे 16.5 महीने का वेतन मिलता थानौकरी के दौरान म्रत्यु पर पारिवारिक पेंशन ओर घर के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाती थी
  • हर 6 महीने के बाद महगाई भता ओर GPF से लोन कि सुविधा भी दि जाती थीं ओर रिटायरment पर medical भत्ते कि पूर्ति कि जाती थी
  • GPF से जो पैसे कि निक्कासी होती थी उस पर कोई incom टैक्स नहीं लगता था
  • 1 जनवरी २००४ ओर उसके बाद के सभी कर्मचारियों को नयी पेंशन कि जगह पुरानी पेंशन स्कीम का लाभ मिलेगा
  • 1 अप्रैल 2022 से सविदा कर्मियों कि भी सैलरी 20 % bhdegi

new पेंशन SCHEEM क्या है ?

निन्मलिखित बाते .

  • GPF कि सुविधा नहीं मिलती है
  • वेतन से हर महीने 10 % कि कटौती होती है
  • यह स्कीम पूरी तरह से सेयर बाज़ार पर आधारित स्कीम है इसमें कोई निश्चित पेंशन कि गारंटी नहीं है नयी पेंशन बिमा कंपनी देती है अगर कोई भी धिकत आती है आपको बीमा कंपनी से बात करनी होती है
  • रिटायर्मेंट के बाद पारिवारिक पेंशन बंद कर दी जाती है ओर मेडिकल भत्ता भी बंद कर दीया जाता है
  • लोन कि कोई भी सुविधा नहीं है
  • रिताय्र्म्रेंट पर जो 40% राशि मिलती है उस पर भी incom टैक्स देना पढता है
  • महगाई भत्ता ओर वेतन आयोग का कोई भी लाभ नहीं मिलता है

क्या राज्य सरकार केंद्र सरकार कि अनुमति के बिना पुरानी पेंशन स्कीम लागु कर सकती है?

सविधान कि सातवी अनुसूची मे राज्य सूचि के विषयों मे 42 वे स्थान पर राज्य कि पेंशन स्कीम के बारे मे बतय गया है अथार्थ राज्य कि संचित निधि मे से पेंशन का उलेख किया गया है इससे यह स्पस्ट है कि राज्य सरकार अपने कर्मचारियों को पेंशन देना राज्य सरकार का खुद का विषय है इसमें केंद्र सरकार कोई भी हस्तक्षेप नहीं कर सकती है

22 दिसम्बर 2003 को केंद्र सरकार ने नयी पेंशन स्कीम मे यह प्रावधान किया था कि कोई भी राज्य जब चाहे नयी पेंशन योजना को अपना सकता है किसी भी राज्य के लिए यह अनिवार्य घोसीत नहीं किया गया था लेकिन केंदर सरकार ने केन्द्रीय कर्मचारियों पर अनिवार्य रूप से लागू कर दिया था लेकिन अधिकांस राज्यों मे आज भी पुरानी पेंशन स्कीम हि लागु है

कोई भी राज्य सरकार पुरानी पेंशन स्कीम लागु करने के लिए सवतंत्र है

RAJASTHAN BUDGET FOR GOVERMENT EMPLOYEES?

राज्य सरकार ने 2022-23 के बजट मे गवर्मेंट कर्मचारियों को बहुत बड़ा उपहार दिया है नयी पेंशन स्कीम कि जगह पुरानी पेंशन स्कीम को बहाल किया गया है ओर रिटायर्ड कर्मचारियों का भी पूरी पेंशन मिलने का रास्ता खोल दिया गया है

इस फेसले से सरकार को 1000 करोर रूपए का भार झेलना पड़ेगा

इसके साथ ही इतिहास मे पहली बार एसा मौका आया है जब सरकार ने कृषि बजट को अलग से पेश किया गया है इसके साथ हि बजट मे युवाओ के लिए, सिक्षा , स्वास्थ्य के लिए काफी घोशनाए कि है

चिरंजीवी योजना मे बिम्मा का विस्तार किया गया है

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने राजस्थान सरकार कि नयी ओर पुरानी पेंशन स्कीम के बारे मे जानकारी दि है जैसे नयी ओर पुरानी पेंशन स्कीम मे अंतर क्या है? इसके फायदे क्या क्या है? ओर बजट मे सरकारी कर्मचारियों के लिए क्या क्या घोशनाए कि गयी है उन सब के बारे मे जाना है हम आशा करते है आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा तो आप हमारे आर्टिकल को पूरा पढ़े ओर इसमें कोई कमी हो तो हमे जरूर बताये धन्यवाद

Leave a Comment